माना कि औरों के मुकाबले कुछ ज्यादा पाया नहीं मैंने,
पर खुश हूँ कि स्वयं को गिराकर कुछ उठाया नहीं मैंने …!!

कुछ लोग कागज़ के टुकड़ो पर खुद का ईमान बेच देते है,
कुछ लोग होते है ऐसे भी इस दुनियां में ,
जो लालच के लिए खुद की इज़्ज़त सरे-आम बेच देते है!!

मेने देखे है अफसर सफ़ेद कॉलर की शर्ट पहने,
डॉक्टर इंजीनियर की डिग्री कोड़ियों के दाम बेच देते है !
देश का भविष्य जिस स्तम्भ पर खड़ा होगा
उस स्तम्भ को ऐसे दीमक पूरा नोंच लेते है!!

corruption_in_india

खाने में तरकारी इनको भाती नहीं आजकल,
घुस जो भर पेट ये खाने लगे है !
देश की सुरक्षा दाव पर लगा कर,
लोहे की मिसाइल चबाने लगे है।
शिक्षा को न छोड़ा , न छोड़ा सुरक्षा को
जनता की आँखों में धूल जोंक देते है!
कुछ लोग होते है ऐसे भी इस दुनियां में
जो लालच के लिए खुद की इज़्ज़त सरे-आम बेच देते है!!

इंसान तो इंसान जानवर के हिस्से का भी खा गए,
हज़ारो करोड़ का चारा बिन डकार पचा गए!
जनता की सेवा करने आये लोग,
जनता के पैसो से खुद की अलाव सेक लेते है !!
कुछ लोग होते है ऐसे भी इस दुनियां में
जो लालच के लिए खुद की इज़्ज़त सरे-आम बेच देते है !!

header4

आशा रखता हूँ घोटालों को टाला जायेगा,
आशा रखता हूँ सेवाएँ अंतिम छोर तक पहुचेगी,
आशा रखता हूँ सोने की चिड़िया फिर से चहकेगी,
क्यों की
कुछ लोग ऐसे भी होते है इस दुनिया में
जो देश की तरक्की के लिए घर, परिवार छोड़ देते है!!

– प्रितेश (PBM)

Advertisements